आप पढ़ रहे हैं दिनांक


ललित सुरजन पंचतत्व में विलीन, राजकीय सम्मान के साथ अंतिम बिदाई ||| मप्र: ५ लाख किसानों के खाते में भेजे १०० करोड़ ||| किसान आंदोलन : एमएसपी आज भी है और कल भी रहेगी ||| कोरोना : देश में कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल जल्द ||| पेज ४ सम्पादकीय : किसान आंदोलन का दायरा :: पेज ९ विविध : मैंने ट्रैम्प को हरा कर अमेरिका के लिए अच्छा.... : पेज १० खेल जगत : मुझे ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद :: पेज ११ अर्थ जगत : ४८१ रूपए उछला सोना : चांदी ५५५ रूपए |||
देशबन्धु जनमत संग्रह
केंद्र सरकार द्वारा लाया गया दृश्य बिल ......









केंद्र सरकार द्वारा कृषि बिल पास किया गया यह कहकर कि इससे किसान लाभान्वित होंगें। किसानों का मत है की इससे किसानों का नुक्सान होगा। सरकार दिखा कुछ और रही है जबकि सच्चाई कुछ और है। एक लम्बा जन आंदोलन हो रहा है। सरकार और किसान दोनों अडिग हैं। आपकी क्या राय है ?

विगत सर्वे का परिणाम

विगत जनमत का विषय था "क्या विधायकों के दलबदल और खरीद फरोख्त की ख़बरों की पुष्टि के लिए जाँच होनी चाहिए?" इस पर १०% पाठकों का कहना है कि कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि सबूत नहीं मिलेंगे। ३० % पाठक ये मानते हैं के जांच होनी चाहिए और ६०% पाठक मानते हैं कि इस की जांच नहीं होनी चाहिए।


पाठकों की कलम से.....

देशबंधु ही नहीं सम्पूर्ण समाज को एक अपूरणीय क्षति हुई है | परमात्मा परिवार को शक्ति प्रदान करे और दिवंगत आत्मा को अपाने चरणों में स्थान देवे। एन एस रुपराह, अधिवक्ता, मप्र उच्च न्यायलय, जबलपुर

ॐ शांति। बहुत दुखद खबर। ईश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दे। परम सम्मानीय श्री ललित जी मेरे पसंदीदा संपादकों और लेखकों में से एक थे। हम लोग जनवरी में शहडोल के एक कार्यक्रम में उन्हें बतौर वक्ता आमंत्रित करने की तैयारी में थे। पर शायद नियति को यह मंजूर नहीं था। मो सईद, शहडोल

आदरणीय ललित भाईसाहब का निधन पत्रकारिता, और साहित्य के क्षैत्र मे अपूरणीय क्षाति हैं ।ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों मे स्थान दें. ओमशांति विनम्र श्रद्धांजलि। अवधेश चौकसे

आदरणीय ललित भैया जी के विचारों को हमेशा पढ़ता था और मिलने की आकांक्षा अब दिवास्वप्न हो गई। विनम्र श्रद्धांजलि, ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें तथा शोक संतप्त परिवारजनों को इस क्षति को सहन करने की शक्ति प्रदान करें. अनुराग जैन

We are very sad to know regarding the sad demise of Respected Lalit Ji may his soul rest in peace & give strength to the bereaved family to bear this untimely loss. B R Kohli, Jabalpur

आपकी प्रतिक्रियाएं आमंत्रित हैं। देशबन्धु को पत्र लिखने के लिए एवं प्रतिक्रियाएं भेजने के लिए यहाँ टच या क्लिक करें


You are visitor No   231370
Published by Abhas Surjan on behalf of Patrakar Prakashan Pvt.Ltd., Deshbandhu Complex, Naudra Bridge, Jabalpur - 482001 |T:+91 761 4006577 |M: +91 94071 81819
Disclaimer, Privacy Policy & Other Terms & Conditions
Web Support by Ruprah Computers & Commtech Engineers